शरद पवार का बयान देश की भावना के विरुद्ध – डा॰ प्रेम कुमार

0
105


पटना 20 जुलाई 2020
बिहार सरकार के कृषि, पशु एवं मत्स्य संसाधन, मंत्री, डॉ प्रेम कुमार ने अयोध्या में राम मन्दिर के निर्माण के लिये 05 अगस्त को आयोजित हो रहे भूमि पूजन कार्यक्रम को लेकर शरद पवार के बयान की निन्दा करते हुए कहा कि यह बयान देश की जनता की भावनाओं के खिलाफ है।


मंत्री ने कहा कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेश एवं देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के भागीरथी प्रयासों से भारत के 100 करोड़ लोगों का चिर प्रतिक्षित सपना साकार हुआ है। आगामी 05 अगस्त को माननीय प्रधानमंत्री के करकमलों से मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के भव्य मंदिर का निर्माण कार्य का शुभारंभ होने जा रहा है। यह मंदिर सिर्फ राम मंदिर नहीं होगा अपितु भारत का राष्ट्र मंदिर होगा। भक्त वत्सल श्री राम का मंदिर बनने से उनकी यश एवं कीर्ति युगों तक पूरे विश्व में सामाजिक, सांस्कृतिक एवं राजनीतिक जीवन में सर्वोच्च आदर्शों को प्रतिस्थापित करती रहेगी। आने वाले तीन वर्षो में मंदिर का निर्माण पूर्ण हो जायेगा और मंदिर की ऊॅचाई 161 फिट होगी जो अपने आप में एक रिकार्ड होगा।

डा॰ प्रेम कुमार ने कहा कि करोड़ों लोगों की आस्था के प्रतीक मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम लला के मंदिर का निर्माण हमलोगों के 05 सदी के संघर्ष की परिणति है और भारत के राष्ट्रीय पुर्नजागरण का उदघोष है, अपने परम आराध्य के पूजन के इस पावन अवसर पर शरद पवार जैसे विद्वान व्यक्ति का करोडों लोगों की अस्था का मजाक उड़ाना सर्वथा अनुचित है। एन॰डी॰ए॰ की सरकार माननीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में देश को सर्वोच्च ऊॅचाई पर स्थापित कर रही है, ऐसे में राम मंदिर के निर्माण कार्य के शुभारम्भ के समय विकास कार्यो और कोरोना की बात करके पवार जी सबकी भावनाओं को आहत कर रहे हैं।

मंत्री ने कहा कि पवार को देखना चाहिये कि देश की जनता ने उनकों खारिज कर दिया है, वे आज भी कही पर सरकार मे हैं और पूर्व मंत्री भी सरकार में रहे हैं, उनके कार्यकाल को और किये गये कार्यो को जनता अच्छे से जान रही है, इसे बताने की आवष्यकता नहीं है। माननीय श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में वर्तमान सरकार नित नये सफलता के किर्तिमान स्थापित कर रही है जिससे श्री शरद पवार जी के पेट में दर्द हो रहा है।

Leave a Reply