बिहार के कमलेश फ़िल्मी दुनिया में कमा रहे नाम

0
787

मोनू कुमार, पटना: मायानगरी मुंबई एक ऐसा शहर है जहां हर रोज़ हजारों लोग अपने आंखों में सपने लेकर जाते है. यह शहर किसी को निराश नहीं करता. यहां हर किसी के लिए कोई न कोई काम जरूर होता है. बिहार के कमलेश गुप्ता की कहानी भी कुछ ऐसी ही है. “द बेटर बिहार” से बात करते हुए उन्होंने कहा कि “मैं काम की तलाश कर रहा था लेकिन कहीं बात नहीं बन रही थी तो मैंने अपने कॉलेज के प्रोफेसर से इस बारे में बात. उन्होंने मुंबई में एक कैमरामैन का काम बताया. फिर मैं मुंबई चला गया लेकिन मैं जिनसे मिला उनका काम किसी कारणवश शुरू नहीं हो पाया था और उन्हें कैमरामैन की कोई जरूरत नहीं थी. आगे मुझे फिल्म इंडस्ट्री में असिस्टेंट डायरेक्टर और दूसरे काम मिले और फिर मैं वहीं का होकर रह गया.” अब कमलेश गुप्ता अपनी फिल्में बना रहे है और अभी उनकी शार्ट फिल्म “मिस्टर समबडी” आई है. उन्होंने फिल्म बनाने की शुरुआत 2015 में एक शार्ट फिल्म “मेटामॉरफोसिस” से की थी.

मिस्टर समबडी

कमलेश ने हाल ही में एक शार्ट फिल्म बनाई है जिसका नाम है “मिस्टर समबडी”. 19 मिनट की यह फिल्म भारतीय न्याय व्यवस्था पर बनाई गई है. इसमें दिखाया गया है कि कैसे एक व्यक्ति न्याय के लिए भटकता रहता है किंतु उसे न्याय नहीं मिलता और अंत में वह हथियार उठाने को मजबूर हो जाता है. इस फिल्म की कहानी कमलेश ने लिखी है. साथ ही इसे डायरेक्ट और प्रोड्यूस भी उन्हीं ने किया है. फिल्म की कहानी के बारे में बताते में उन्होंने कहा कि, “इसका आईडिया मुझे अपने घर में चल रहे एक कोर्ट केस से आया. मेरा जमीन से जुड़ा एक विवाद वर्षों से चल रहा है. एक तारीख के बाद दूसरी तारीख मिलती है लेकिन फैसला कभी नहीं आता.”

चुनौतियां

चुनौतियों के बारे में कमलेश गुप्ता ने बताया कि फिल्म बनाने के दौरान सबसे बड़ी चुनौती बजट की थी. उन्हें एक प्रोड्यूसर मिले थे जो पैसे लगाने को तैयार थे लेकिन बाद में किसी वजह से उन्होंने मना कर दिया. इसके बाद कमलेश ने खुद ही फिल्म को प्रोड्यूस करने की ठानी और अपने सेविंग्स और कुछ पैसे अपने परिवार और दोस्तों से लेकर इस फिल्म को पूरा किया. मिस्टर समबडी में मुख्य अभिनेता के रूप में ऋतुराज सिंह, चंदन के आनंद, आरिफ ज़कारिआ और अनंत जोग है.     

आगामी प्रोजेक्ट्स

34 वर्षीय कमलेश गुप्ता इन दिनों अपनी पहली फीचर फिल्म की तैयारियों में जुटे हुए है. इस फिल्म के बारे में उन्होंने बताया कि “यह एक महिला केंद्रित फिल्म होगी. इसमें नायिका छोटे शहर की एक लड़की का किरदार निभाएगी. इस फिल्म की कहानी लिखी जा चुकी है और अभी कास्टिंग पर काम चल रहा है. इसकी शूटिंग देहरादून में अक्टूबर में प्रस्तावित है.”

सुशांत पर बनायेंगे शार्ट फिल्म

कमलेश अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की याद में एक शार्ट फिल्म बनायेंगे. इसका शीर्षक उन्होंने “ट्रांजीशन: स्टोरी ऑफ़ सुशांत” रखा है. इस फिल्म के माध्यम से वे सुसाइड और बॉलीवुड में फेवरिटिज्म और लॉबिंग के मुद्दे को उठाएंगे. गौरतलब है कि बिहार के मूलनिवासी सुशांत सिंह राजपूत ने 24 जून को मुंबई स्थित अपने फ्लैट में आत्महत्या कर ली थी. सुशांत ने अपने छोटे से करियर में काई पो चे, पीके, व्योमकेश बक्शी, एम एस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी, छिछोड़े जैसी फिल्में की थी जिसने उन्हें कामयाबी की बुलंदियों तक पंहुचा दिया था.

निजी ज़िंदगी

ट्रेवलिंग के शौकीन कमलेश बिहार के रोहतास जिले के बिक्रमगंज प्रखण्ड के मोहनी गांव के रहने वाले है. स्नातक तक की पढ़ाई रोहतास से ही करने के बाद उन्होंने एसटीडी, सीडी और कैसेट्स की दुकान खोली. 2007 आते-आते तक इन सब का दौर खत्म हो चुका था और फिर दूसरे काम की तलाश में वे दिल्ली चले गए. वहां उन्होंने कॉल सेंटर और म्यूच्यूअल फंड्स का काम किया. इसके बाद अपने एक दोस्त की सलाह पर उन्होंने पुडूचेरी यूनिवर्सिटी में 2009 में एम.ए. में एडमिशन लिया. 2011 में जन संचार विषय में पीजी करने के बाद वे मुंबई चले गये और फिर फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े.

Leave a Reply