ईसीसीई के लिए आई.सी.डी.एस बिहार को मिला प्रतिष्ठित स्कोच अवार्ड

0
182

पटना, 29 नवंबर: समाज कल्याण विभाग, बिहार सरकारके समेकित बाल विकास सेवाएं निदेशालय (आईसीडीएस) को प्रतिष्ठित स्कोच अवार्ड्स में सिल्वर अवार्ड से सम्मानित किया गया है.आईसीडीएसको यह सम्मान गवर्नेंस श्रेणी में प्रारंभिक बाल्यावस्था देखभाल एवं शिक्षा (ईसीसीई) के लिए मिला है

अवार्ड मिलने पर खुशी जाहिर करते हुए आईसीडीएस के निदेशक आलोक कुमार ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण बच्चे आंगनवाड़ी केन्द्रों तक नहीं आ पा रहे थे. ऐसे में हमने डिजिटल माध्यमों को अपनाया. साथ ही हमारी आंगनवाड़ी सेविकाएं समय-समय पर बच्चों के घर जा कर उन्हें जरूरी परामर्श देती और गतिविधियां कराती रही. घर पर बच्चों के साथ गतिविधि करने के लिए एक ECCE गतिविधि कैलेंडर बनाया गया, जिसका उपयोग माता-पिता या देखभालकर्ता द्वारा बच्चों के साथ गतिविधि करने हेतु किया गया. इसमें जिक्र किया गया था कि किस तारीख को बच्चे को कौन सी गतिविधि करनी है.

आगे उन्होंने कहा कि बच्चों के विकास के मूल्यांकन के लिए एक डैशबोर्ड भी बनाया गया. इसके मापदंड महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के दिशा – निर्देशों के अनुसार तय किए गए थे. बच्चे अपनी पसंद की कहानी सुन सकें इसके “मिस्ड कॉल दो कहानी सुनो “ सेवा के लिए एक टॉल फ्री नंबर08068264449 जारी किया गया. प्रत्येक दिन व्हाट्सएप और टेलीग्राम के माध्यम से ईसीसीई से संबंधित वीडियो भेजे जाते थे. साथ ही बच्चोंके साथ गतिविधि करने हेतु ECCE कलेंडर एवं डिजिटल सामग्रियों की उपलब्धता ICDS वेबसाइट पर जनमानस के प्रयोग हेतु करायी गयी है.  इनमें व्यायाम, चित्रकारी, कहानी सुनना, गीत गाना व रोल प्ले जैसी प्रक्रियाओं को शामिल किया गया. इस दौरान बच्चों के साथ सकारात्मक संवाद पर बल दिया गया. इन सब के जरिए हमारा यह पूरा प्रयास रहा कि इस कठिन परिस्थिति में भी बच्चों के सीखने की प्रक्रिया बाधित नहीं हो. इस कार्य को समुदाय स्तर पर क्रियान्वित करने में ICDS कार्यकर्त्ता एवं सहयोगी संस्थाओं की भी अहम भूमिका रही है .

आईसीडीएस की सहायक निदेशक श्रीमती श्वेता सहाय ने कहा कि जीवन के बेहतर निर्माण के लिए 0-6 वर्ष का आयु वर्ग सर्वाधिक महत्वपूर्ण होता है क्योंकि इस आयु वर्ग में बच्चों का मानसिक और शारीरिक विकास सबसे तीव्र गति से होता है. लोग प्रारंभिक बाल्यावस्था देखभाल एवं शिक्षा (ईसीसीई) से जुड़ी जानकारी घर बैठे प्राप्त कर सकें, इसके लिए एक नि:शुल्क नंबर 18001215725 की शुरुआत की गई है. इस हेल्पलाइन पर बच्चों के जीवन में शुरूआती वर्षों के महत्व, बच्चों  के मस्तिष्क विकास की प्रकिया एवं प्रभावित करने वाले कारकों, ईसीसीई की अवधारणा एवं महत्व और 3-6 वर्ष के आयु के बच्चों की वृद्धि एवं विकास से जुड़ी हर जानकारी उपलब्ध है.

आईसीडीएस को वोट करने वालों के प्रति धन्यवाद प्रकट करते हुए उन्होंने कहा कि हमें वोट कर सिल्वर अवार्ड दिलाने के लिए सभी को धन्यवाद.

Leave a Reply