85% भारतीय चाहते हैं वायु प्रदूषण पर कठोर कानूनः नये सर्वे में खुलासा

0
223

18 जून, 2020: क्लीन एयर फंड द्वारा एक सर्वे में सामने आया है कि देश के 85% लोग चाहते हैं कि वायु प्रदूषण पर नकेल कसने के लिये कठोर कानून लाया जाये और नियमो का पालन किया जाये। साथ ही 90% भारतीय अपने शहर की हवा को साफ देखना चाहते हैं। सर्वे में शामिल ज्यादातर लोगों ने वायु प्रदूषण को स्वास्थ्य और पर्यावरण का खतरा माना है।
क्लीन एयर फंड के कार्यकारी निदेशक जेन बर्स्टन ने कहा, ‘दुनिया भर के लोग अपनी सरकार से साफ हवा की मांग कर रहे हैं। लॉकडाउन जैसे ही खत्म होगा और आर्थिक गतिविधी शुरु होगी, लोग फिर से खराब हवा में सांस नहीं लेना चाहते।’

क्लीन एयर फंड ने वायु प्रदूषण से निपटने के लिये एक विशेष स्वास्थ्य और पर्यावरण नीति बनाने, कोरोना संकट से निपटने के लिये जारी आर्थिक पैकेड में वायु प्रदूषण से निपटने के उपाय पर फोकस करने, पैदल चलने और साइकिल चलाने के लिए शहर की सड़कों को अनुकूल बनाने, और लॉकडाउन के दौरान अनुभव किये साफ हवा और नीले आकाश को जारी रखने के लिये नीति बनाने की मांग की है।


जेन बर्सटन ने आगे जोड़ा, “हवा की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए कार्रवाई अभी संभव और लोकप्रिय है और इससे जलवायु परिवर्तन को कम करने में भी मदद मिलेगी। सरकारों को साफ हवा के लिये मिल रहे इस व्यापक सार्वजनिक समर्थन का इस्तेमाल करना चाहिए और हमारे स्वास्थ्य और पर्यावरण की रक्षा के लिए पोस्ट-कोविड रिकवरी पैकेज का उपयोग करना चाहिए।”

लगभग सभी भारतीय सोचते हैं कि वायु प्रदूषण उनके सामान्य स्वास्थ्य को प्रभावित करता है, उत्तरदाताओं का 94% लगता है कि वायु प्रदूषण उनके सामान्य स्वास्थ्य को प्रभावित करता है, 60% को लगता है कि यह उनके सामान्य स्वास्थ्य को प्रभावित करता है ‘बहुत अच्छा, 30% सोचते हैं कि यह उनके सामान्य स्वास्थ्य को प्रभावित करता है।
रिपोर्ट हमारे प्रमुख क्षेत्रों में सार्वजनिक दृष्टिकोण को सारांशित करती है और उन प्रमुख कदमों पर प्रकाश डालती है जो सरकारों को COVID 19 से वापसी के बाद स्वच्छ हवा प्रदान करने के लिए आवश्यक होगी। इसमें भारत, पोलैंड, नाइजीरिया, ग्रेट ब्रिटेन और बुल्गारिया में हमारे मतदान के परिणाम शामिल हैं – और सरकारों को COVID -19 से पुनर्निर्माण की योजनाओं के साथ ही स्वच्छ हवा की रणनीति बनाने के लिए सिफारिशें करता है।

पूरे भारत में सर्वेक्षण के निष्कर्ष बताते हैं कि:
लगभग सभी भारतीय सोचते हैं कि वायु प्रदूषण उनके सामान्य स्वास्थ्य को प्रभावित करता है
उत्तरदाताओं का 94% लगता है कि वायु प्रदूषण उनके सामान्य स्वास्थ्य को प्रभावित करता है
60% को लगता है कि यह उनके सामान्य स्वास्थ्य को प्रभावित करता है ‘बहुत अच्छा
30% सोचते हैं कि यह उनके सामान्य स्वास्थ्य को प्रभावित करता है ‘एक उचित राशि ‘

Leave a Reply